Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

*राजिम माघी पुन्नी मेला हम सबकी आस्था का प्रतीक है: मुख्यमंत्री भूपेश बघेल, माघी पुन्नी मेला के शुभारंभ अवसर पर राजिम में राजीव लोचन मंदिर पहुंचकर सीएम बघेल ने भगवान के किए दर्शन*

  रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल माघी पुन्नी मेला के शुभारंभ अवसर पर राजिम में राजीव लोचन मंदिर पहुंचकर भगवान के दर्शन कर प्रदेश के खुशहाली ...

 


रायपुर। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल माघी पुन्नी मेला के शुभारंभ अवसर पर राजिम में राजीव लोचन मंदिर पहुंचकर भगवान के दर्शन कर प्रदेश के खुशहाली और सुख-समृद्धि की कामना की। मुख्यमंत्री सीता बाड़ी की भव्यता देख प्रसन्नता जतायी। महानदी मैया की महाआरती में शामिल होकर मुख्यमंत्री ने विधि-विधान से आरती कर त्रिवेणी मैया से प्रदेश की खुशहाली और समृद्धि की कामना की। 



मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राजिम माघी पुन्नी मेला की बधाई और शुभकामनाएं दी और कहा कि राजिम माघी पुन्नी मेला हम सबकी आस्था का प्रतीक है। इस मेले में छत्तीसगढ़ की धार्मिक परंपराओं के साथ-साथ लोक संस्कृति के दर्शन होते हैं। इस मौके पर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू, वन मंत्री मोहम्मद अकबर, राजिम विधायक अमितेष शुक्ल, अभनपुर विधायक धनेन्द्र साहू, सिहावा विधायक डॉ. लक्ष्मी धु्रव, तेलघानी विकास बोर्ड के सदस्य सर्वश्री शैलेन्द्र साहू, भावसिंह साहू, विकास तिवारी, पद्मा दुबे, प्रीति पाण्डे सहित अनेक गणमान्य नागरिक एवं श्रद्धालुगण बड़ी संख्या में उपस्थित थे।



छत्तीसगढ़ का प्रयाग कहलाने वाले राजिम में माघी पुन्नी मेला आज से शुरू हुआ। महानदी, पैरी और सोंढूर नदियों के पवित्र त्रिवेणी संगम पर सदियों से यह मेला लगता है, जो माघी पूर्णिमा से शुरू होकर राजिम मेला महाशिवरात्रि तक चलता है। माघ पूर्णिमा के अवसर पर आज राजिम के त्रिवेणी संगम तट पर श्रद्धालुओं ने माघी पुन्नी का पुण्य स्नान किया। स्नान करने हेतु पूरे देश सहित प्रदेश के कोने-कोने से लोग पहुंचे और गंगा घाट में डुबकी लगाकर पुण्य स्नान किया। 


उल्लेखनीय है कि राजिम माघी पुन्नी मेला का आयोजन 5 फरवरी माघ पूर्णिमा से प्रारंभ होकर 18 फरवरी महाशिवरात्रि तक होगा। यहां प्रतिदिन सांस्कृतिक संध्या के तहत छत्तीसगढ़ के सुप्रसिद्ध कलाकार अपनी कला की प्रस्तुति देंगे। पहले दिन 5 फरवरी को रंग सरोवर के भूपेंद्र साहू बारुका और स्वर्णा, गरिमा दिवाकर रायपुर की शानदार प्रस्तुति होगी। 6 फरवरी को पद्मश्री डॉ. ममता चंद्राकर रायपुर, 7 फरवरी को अल्का परगनिहा रायपुर, 8 फरवरी को पी.सी. लाल यादव गंडई, पद्मश्री ऊषा बारले भिलाई, 9 फरवरी को ननकी ठाकुर, चम्पा निषाद रायपुर, 10 फरवरी को हिम्मत सिन्हा छुरिया, 11 फरवरी को गोरेलाल बर्मन रायपुर, 12 फरवरी को अनुराग शर्मा रायपुर, 13 फरवरी को दुष्यंत हरमुख भिलाई, 14 फरवरी को दिलीप षडंगी रायगढ़, आरु साहू नगरी,15 फरवरी को सुनील सोनी दुर्ग, 16 फरवरी को रिखी क्षत्रीय भिलाई, पद्मश्री डोमार सिंह कुंवर लाटाबोड़, 17 फरवरी को दीपक चंद्राकर अर्जुन्दा और 18 फरवरी को सुनील तिवारी रायपुर के कलाकार अपनी प्रस्तुति देंगे।



No comments