Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

रूद्री बराज में बड़ी घटना होते-हाेते टली

धमतरी।  रूद्री बराज के गेट के पास महानदी मुख्य नहर के तेज बहाव में डूब रहे तीन लड़कों के लिए बच्चों की कूदने की रस्सी (स्कीपिंग रोप) संकटमोच...

धमतरी।  रूद्री बराज के गेट के पास महानदी मुख्य नहर के तेज बहाव में डूब रहे तीन लड़कों के लिए बच्चों की कूदने की रस्सी (स्कीपिंग रोप) संकटमोचक साबित हुई। इसी रस्सी के सहारे कर्मा नगर धमतरी निवासी पत्रकार डोमन साहू ने तीन लड़कों की फ्रीडम फीजिकल ट्रेनिंग के युवकों के साथ मिलकर जान बचाई। रूद्री बराज में बड़ी घटना होते-हाेते टली। वर्तमान में नगर निगम रायपुर और धमतरी के लिए 350 क्यूसेक पानी नहर में छोड़ा जा रहा है। दरअसल, 26 मई की सुबह आठ बजकर पांच मिनट में लोग रूद्री बराज के पानी में नहाने में व्यस्त थे। उसी समय बेमेतरा से अपने नानी के घर बठेना वार्ड धमतरी आए आयुष साहू नहाते-नहाते बराज के गेट की तरफ पानी के उल्टे बहाव में खिंचाने लगे। उसे बहाव में जाते देख उसके साथ आए दो और लड़के उसे बचाने के लिए पानी में गए और तीनों पानी के भंवर में डूबने लगे। उन्हें डूबता देखकर वहां नहा रहे लोगों ने बराज की दीवार की पाइपनुमा छेद को पकड़ने कहा। तब तीनों लड़के एक दूसरे का सहारा लेकर छेद को पकड़कर किसी तरह खड़े रहे। उन्हें देखकर सब लोग शोर मचाने लगे। तब पत्रकार डोमन साहू ने तत्काल रस्सी लेकर पानी में कूद गए। पानी को पार कर उस ओर पहुंचे और स्कीपिंग रोप फ्रीडम फीजिकल ट्रेनिंग के तीन लड़कों को पकड़ाकर पानी में कूद गए। इसके बाद डोमन साहू ने रस्सी पकड़ी। डोमन साहू को पीछे से तीनो लड़कों ने पकड़ा। डोमन ने तीनों लड़कों को रस्सी के सहारे बहार निकालने का प्रयास किया, लेकिन सफल नहीं हो पाए। क्योंकि गेट की तरफ पानी का उल्टा बहाव होने के कारण बाधा आ रही थी। इसके बाद डोमन साहू पानी के सीधे तेज बहाव में तैरते हुए गए और रस्सी फेंककर तीनों को पानी के उल्टे बहाव से सीधे तेज बहाव की और लाए। इसके बाद रस्सी पकड़कर कुछ दूर तक तीनों पानी में बहते रहे। अंत में डोमन साहू ने पानी के भीतर पत्थर पर पैर रखकर तीनों को थाम लिया। इसके बाद रस्सी के सहारे तीनों लड़के और डोमन साहू सकुशल पानी से बाहर निकल गए। तीनों लड़कों को सकुशल बाहर निकालने में फ्रीडम फीजिकल ट्रेनिंग के बठेना वार्ड के हार्दिक साहू, नयापारा के निखिल ध्रुव, माधव, संजय, भूषण, अरशद अली ने सहयोग किया। तीनों लड़कों को बचाने पानी में फ्रीडम फीजिकल ट्रेनिंग के दो लड़के पानी में कूदे। ये दोनों लड़के उल्टे बहाव के कारण जिस तरफ से पानी में कूदे थे, उस तरफ से बाहर नहीं निकल पाए। तैरते हुए रूद्री बराज के गेट के पास पहुंच गए। गेट पर चढ़कर उपर चढ़ते हुए बाहर निकलने का प्रयास करने लगे। गेट के पास फिसलकर दोनों पानी में दो बार गिरे, इसके बाद फिर से उपर चढ़े। 20 मिनट तक दोनों गेट में फंसे रहे। अंत में पानी की बहाव की दिशा में कूदकर किसी तरह दोनों तैरकर बाहर निकले।

No comments