Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

हरेली के अवसर पर शासकीय हाईस्कूल परिसर भोयना में ’’छत्तीसगढ़िया ओलंपिक’’ की होगी शुरूआत

    छत्तीसगढ़िया ओलंपिक में पिट्ठुल, कबड्डी, रस्सा कस्सी, बांटी, फुगड़ी, गेड़ी दौड़, भौंरा एवं रस्सी कूद  आदि खेल होंगे आयोजित  17 जुलाई से 4 सि...

 

 छत्तीसगढ़िया ओलंपिक में पिट्ठुल, कबड्डी, रस्सा कस्सी, बांटी, फुगड़ी, गेड़ी दौड़, भौंरा एवं रस्सी कूद  आदि खेल होंगे आयोजित

 17 जुलाई से 4 सितंबर तक चलेगा छत्तीसगढ़िया ओलंपिक

धमतरी । छत्तीसगढ़ी संस्कृति एवं लोक खेलों का ग्रामीण क्षेत्रों में एक विशिष्ट स्थान है। लोक संस्कृति की इन्हीं विधाओं में से पारंपरिक खेलों का आनंद हरेली त्यौहार से प्रारंभ होकर तीज त्यौहारों एवं अन्य पर्वों में देखने को मिलता है। पारंपरिक खेल लोक रंजन के मुख्य साधन है। लोक रंजन की परिकल्पनाओं को साकार करने और पुरानी खेल परंपराओं को सहेजने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़िया ओलंपिक खेल का आयोजन किया जा रहा है। कलेक्टर श्री ऋतुराज रघुवंशी के निर्देश पर जिले में छत्तीसगढ़िया ओलंपिक की शुरुआत  ग्राम भोयना से किया जा रहा है।छत्तीसगढ़िया ओलंपिक के नोडल अधिकारी और जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती राक्तिमा यादव ने बताया कि 17 जुलाई 2023 को हरेली त्यौहार के अवसर पर जिले के ग्राम पंचायत भोयना स्थित शासकीय हाईस्कूल परिसर में ’’छत्तीसगढ़िया ओलंपिक’’ कार्यक्रम का आयोजन किया जाएगा। कार्यक्रम की मुख्य अतिथि विधायक धारसीवा श्रीमती अनिता शर्मा विधायक धरसींवा होंगी। शासन के निर्देशानुसार छत्तीसगढ़िया ओलंपिक कार्यक्रम में पिट्ठुल, कबड्डी, रस्सा कस्सी, बांटी, फुगड़ी, गेड़ी दौड़, भौंरा एवं रस्सी कूद ग्रामीणों का मुख्य आकर्षण रहेगा। यह कार्यक्रम मुख्य रूप से छत्तीसगढ़ के पारंपरिक खेल गतिविधियों को ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में प्रोत्साहित करने, प्रतिभागियों को मंच प्रदान करने, उनमें खेलों के प्रति जागरूकता बढ़ाने और खेल भावना का विकास करने हेतु किया जा रहा है। यह आयोजन 17 जुलाई से 22 जुलाई 2023 तक राजीव युवा मितान क्लब स्तर, 26 जुलाई से 31 जुलाई 2023 तक जोन स्तर (08 क्लब को मिलाकर एक जोन होगा), 07 अगस्त से 21 अगस्त 2023 तक विकासखंड, नगरीय क्लस्टर स्तर, 25 अगस्त से 04 सितम्बर 2023 तक जिला स्तर पर होगा। इसमें महिला एवं पुरूष वर्ग के 18 वर्ष से 40 वर्ष आयु के प्रतिभागी शामिल होंगे। श्रीमती यादव ने यह भी बताया कि लोकरंजन की परिकल्पनाओं को साकार करने और पुरानी खेल परंपराओं को सहेजने के उद्देश्य से छत्तीसगढ़िया ओलंपिक का आयोजन किया जा रहा है।

No comments