Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

परिवार द्वारा खुदकुशी मामले की एसआइटी करेगी जांच

   भोपाला। राजधानी के रातीबड़ इलाके में स्‍थित शिव विहार कालोनी में रहने वाले एक परिवार द्वारा आत्‍महत्‍या करने के मामले की जांच एसआइटी को स...

 

 भोपाला। राजधानी के रातीबड़ इलाके में स्‍थित शिव विहार कालोनी में रहने वाले एक परिवार द्वारा आत्‍महत्‍या करने के मामले की जांच एसआइटी को सौंपी जाएगी। प्रदेश के गृहमंत्री नरोत्‍तम मिश्रा ने इस बात की घोषणा की है। शुक्रवार सुबह गृहमंत्री नरोत्‍तम ने पत्रकारों के साथ चर्चा के दौरान कहा कि भोपाल में परिवार के सुसाइड मामले में एसआइटी का गठन किया जा रहा है। यह एसआइटी जोन-वन के अतिरिक्‍त पुलिस आयुक्‍त शशांक के नेतृत्‍व में काम करेगी। नरोत्‍तम ने कहा कि परिवार को प्रताड़ित करने वाले सभी लोगों को चिन्हित कर सख्त कार्रवाई करेंगें। ऐसे एप्‍लीकेशन वाले नंबरों को चिह्नित भी किया जा रहा है, जिनसे उनको (भूपेंद्र विश्‍वकर्मा) को धमकी आई थी, दबाव डाला गया था। ऐसे लोन वाले एप्‍लीकेशंस को भी चिह्नित किया जा रहा है, इन्‍हें बैन करने के लिए केंद्र सरकार से भी आग्रह करेंगें। गौरतलब है कि आनलाइन फ्राड एप कंपनी की ब्‍लैलमेलिंग से परेशान होकर रातीबड़ स्थित शिव विहार कालोनी में रहने वाले भूपेंद्र विश्‍वकर्मा और उनकी पत्‍नी रितु ने गुरुवार तड़के अपने दोनों बच्‍चों को जहर देकर मारने के बाद खुद भी फांसी लगाकर जान दे दी थी। उन्‍होंने मरने से पहले मेज पर डायरी के बीच में चार पन्नों का सुसाइड नोट लिखा था। इसमें आनलाइन लोन एप कंपनियों की धोखाधड़ी से परेशान होकर इस तरह का कदम उठाने की बात लिखी है। खुदकुशी करने के ठीक पहले सुबह चार बजे युवक ने अपनी भतीजी को वाट्सएप पर पूरे परिवार की सेल्फी और सुसाइड नोट भेजा था। साथ ही लिखा था यह हमारी आखिरी फोटो है। इसके बाद कभी नहीं दिखेंगे। सुबह छह बजे भतीजी ने चाचा का मैसेज पढ़ा, तब घटना का पता चला।

No comments