Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

पशु चिकित्सा सेवाएं के संयुक्त संचालक डा.शंकर लाल उईके के खिलाफ एक महिला संविदा कर्मचारी ने लगाया आरोप

   रायपुर।राजधानी रायपुर में पशु चिकित्सा सेवाएं के संयुक्त संचालक डा.शंकर लाल उईके के खिलाफ एक महिला संविदा कर्मचारी ने अभद्रता और गाली-गलौ...

 

 रायपुर।राजधानी रायपुर में पशु चिकित्सा सेवाएं के संयुक्त संचालक डा.शंकर लाल उईके के खिलाफ एक महिला संविदा कर्मचारी ने अभद्रता और गाली-गलौज कर उसे मुंह दिखाने लायक नहीं छोड़ने की धमकी देने का आरोप लगाया है। पीड़िता की शिकायत पर पंडरी थाना पुलिस ने संयुक्त संचालक के खिलाफ अपराध दर्ज कर लिया है। पंडरी पुलिस थाना प्रभारी जितेंद्र ताम्रकार ने बताया कि एक संविदा कर्मचारी महिला ने संयुक्त संचालक के खिलाफ उसके साथ चेंबर में बुलाकर अभद्रता की शिकायत दर्ज कराई है। दर्ज एफआइआर के मुताबिक जब महिला के साथ यह सब हुआ, तब वहां कार्यालय के तीन अन्य लोग भी मौजूद थे, जिसमें एक महिला स्टाफ भी थी। धारा 294, 506 के तहत दर्ज केस में महिला ने संयुक्त संचालक पर करियर बर्बाद करने, मुंह दिखाने लायक न छोड़ने और खुजली मिटाने जैसी बातों के साथ-साथ अनुसूचित जनजाति विभाग में फंसा देने तक की धमकी देने का आरोप लगाया है। महिला का आरोप है कि संयुक्त संचालक ने उस पर रजिस्टर फेंका और उसका मोबाइल छीनकर महिला स्टाफ से जांच भी करवाया। कृत्रिम गर्भाधान केंद्र रायपुर के अंतगर्त उपकेंद्र तेलीबांधा में एवीएफओ संविदा के पद पर कार्यरत एक महिला ने थाने में शिकायत दर्ज कराया कि 25 जुलाई की सुबह 10.53 बजे कार्यालय जेडी रायपुर ग्रुप में मैसेज आया, जिसमें एक मोबाइल से उन्हें फोन आया था कि तेलीबांधा के एवीएफओ फोन नहीं उठा रही है, इसकी शिकायत मिली है।जिसमें 12 बजे तेलीबांधा के एवीएफओ को सभी रजिस्टर के साथ मिलने के लिए कहा गया। यह मैसेज पढ़कर पीड़िता संयुक्त संचालक के पशु चिकित्सा सेवाएं पंडरी कार्यालय में 12 बजे पहुंची। डा.शंकर लाल उईके ने उसे 12.30 बजे अपने चेंबर में बुलवाया। वहां डा. सुमित गर्ग, डा. अजय अग्रवाल और मरियम सोनी मौजूद थे। मरियम सोनी ने पीड़ित महिला का मोबाइल छीना और डा. शंकर लाल उईके ने उसके साथ गाली गलौज करनी शुरू कर दी। आरोपित संयुक्त संचालक ने महिला से कहा, ऐसा हाल बनाउंगा कि कहीं मुंह दिखाने लायक नहीं रहोगी। पशु चिकित्सा सेवाएं संयुक्त संचालक डा.शंकर लाल उईके ने कहा, जिस संविदा कर्मी युवती ने पंडरी थाने में एफआइआर दर्ज कराई है, उसकी कई शिकायतें आ रही थी, जिसके बाद उसे कार्यालय बुलाया गया था। जब युवती चेंबर में आई तो वहां पहले से महिला अधिकारी समेत अन्य लोग भी मौजूद थे। सभी ने जाकर थाने में अपना बयान दर्ज करा दिया है। जब मुझे बुलाया जाएगा तो मैं भी अपना बयान दर्ज कराऊंगा। मेरे ऊपर लगाए गए सभी आरोप झूठे हैं।

No comments