Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

सुकमा में जवानों के साथ मुठभेड़

   सुकमा।  छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित सुकमा जिले में सर्चिंग पर निकले जवानों की नक्सलियों से मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में पुलिस के जवानों ...

 

 सुकमा।  छत्‍तीसगढ़ के नक्‍सल प्रभावित सुकमा जिले में सर्चिंग पर निकले जवानों की नक्सलियों से मुठभेड़ हुई। इस मुठभेड़ में पुलिस के जवानों ने दो इनामी नक्‍सलियों को मार गिराया है। जानकारी के अनुसार जवानों और नक्सलियों के बीच मुठभेड़ ताड़मेटला इलाके में हुई है। एसपी किरण चव्हाण ने जवानों और नक्‍सलियों के बीच मुठभेड़ की खबर की पुष्टि की है। जानकारी के अनुसार डीआरजी और सीआरपीएफ जवानों की संयुक्त टीम सुकमा जिले के घोर नक्‍सली क्षेत्र ताड़मेटला में सर्चिंग के लिए निकली हुई थी। इस मुठभेड़ में जवानों की ओर से कोई हताहत नहीं हुआ है। हालांकि मुठभेड़ में दो इनामी नक्सली मारे गए हैं। फायरिंग के बाद जवानों ने इलाके में सर्चिंग की, जहां दो पुरुष नक्सलियों के शव बरामद किए गए हैं। इन नक्‍सलियों की पहचान जगरगुंडा एरिया कमेटी के अंतर्गत नक्सली मिलिशिया कैडर सोढ़ी देवा, रवा देवा के रूप में हुई है। मुठभेड़ में मारे गए इन दोनों नक्‍सलियों पर एक-एक लाख का इनाम घोषित है। ये दोनों नक्‍सली शिक्षादूत कवासी सुक्का और वर्तमान उपसरपंच ताड़मेटला पंचायत माड़वी गंगा की हत्या के साथ मिनपा के पास कोरसा कोसा की पुलिस मुखबिरी के शक में हत्या जैसे अपराध में संलिप्त थे। इसके अलावा जवानों ने मुठभेड़स्थल पर एक 12 बोर डबल बैरल राइफल और एक नग पिस्टल बरामद किया है।बतादें कि सुकमा जिले का ताड़मेटला गांव यह वही इलाका है, जहां नक्सल इतिहास की सबसे बड़ी घटना छह अप्रैल 2010 को घटित हुई थी। इसमें सीआरपीएफ के 75 और जिला बल के एक जवान बलिदान हो गए थे। 

No comments