Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

जिला अस्पताल की सामने आई बड़ी लापरवाही

  बीजापुर। छत्‍तीसगढ़ के बीजापुर जिला अस्पताल की बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से शव गृह में रखे एक महिला के श...

 

बीजापुर। छत्‍तीसगढ़ के बीजापुर जिला अस्पताल की बड़ी लापरवाही सामने आई है। यहां अस्पताल प्रबंधन की लापरवाही से शव गृह में रखे एक महिला के शव को चूहे रात भर कुतरते रहे। मामला नगर के प्रतिष्ठित कपड़ा व्यापारी दिलीप चांडक के परिवार से जुड़ा है। हालांकि कलेक्टर राजेन्द्र काटारा ने वार्ड ब्‍वाय सोमलु कुडियम को प्रथम दृष्टया दोषी मानते हुए निलंबित कर दिया है। वार्ड ब्‍वाय को सिविल आचरण नियमों के तहत निलंबित किया गया। निलंबन अवधि में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी कार्यालय में अटैच किया गया। दिलीप के मुताबिक उनकी मां सरस्वती चांडक का सोमवार को निधन हो गया था। चांडक परिवार की महिला काफी दिनों से बीमार चल रही थी। मंगलवार को अंतिम संस्कार के लिए शव जिला अस्पताल के शव गृह में रखवाई गई थी। सुबह शव लेने जब स्‍वजन अस्पताल पहुंचे तो शव की हालत देख अस्पताल प्रबंधन की प्रति गहरी नाराजगी देखी गई। स्‍वजनों ने बताया शव गृह का डीप फ्रीजर भी बंद पाया गया। इतना ही नही चूहों द्वारा शरीर के हाथ, पैर सहित कई अंगों को कुतर दिए हैं। घटना से चांडक परिवार बेहद आहत है। जिम्मेदारों पर सख्त से सख्त कार्रवाई की मांग कर रहा है। शव गृह में रखे शव को रात भर चूहे कुतरते रहे। शव को डीप-फ्रीजर में रखने के बाद भी स्वास्थ प्रबंधन की इतनी बड़ी लापरवाही उजागर हुई। सिविल सर्जन डा यशवंत ध्रुव का कहना है कि इस तरह की लापरवाही के लिए जिम्मदारों पर कार्रवाई होगी। मामले को लेकर जांच की जा रही है। अस्पताल प्रबंधन की इस तरह की लापरवाही के लिए पूर्व मंत्री महेश गागड़ा ने शासन, प्रशासन से कार्रवाई र्यवाही की मांग की है। पूर्व मंत्री व भाजपा नेता महेश गागड़ा का कहना है कि इस मामले पर प्रशासन संज्ञान लेकर कार्रवाई करे।

No comments