Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

भीख मांगने पहुंची 10 साल की बच्ची के साथ फकीर ने किया कुकर्म

   बिलासपुर । घर से भागकर ट्रेन में भीख मांगने पहुंची 10 साल की बच्ची के साथ कुकर्म करने का मामला सामने आया है। बच्ची ने ट्रेन में बैठे एक फ...

 

 बिलासपुर । घर से भागकर ट्रेन में भीख मांगने पहुंची 10 साल की बच्ची के साथ कुकर्म करने का मामला सामने आया है। बच्ची ने ट्रेन में बैठे एक फकीर से मदद मांगी तो वह उसे अपने साथ ले गया और जंगल में जाकर उसके साथ अश्लील कृत्य किया। इसके बाद बच्ची को छोड़कर आरोपित फकीर भाग गया। जंगल में रो रही बच्ची को देख आसपास के लोगों ने इसकी जानकारी पुलिस को दी। पुलिस ने तुरंत बच्ची की मदद करते हुए अस्पताल पहुंचाया और आरोपित पर केस दर्ज कर रातोरात उसे गिरफ्तार कर लिया। मामला बिलासपुर के रतनपुर थाना क्षेत्र का है। रतनपुर थाना प्रभारी देवेश राठौर ने बताया कि क्षेत्र में रहने वाली 10 साल की बच्ची 26 दिसंबर को घर से निकलकर बिलासपुर पहुंच गई। उसके बाद वह ट्रेन में चढ़कर यात्रियों से पैसे की मदद मांगने लगी। इस दौरान ट्रेन में फकीर बनकर भीख मांगने वाले सारंगढ़-बिलाईगढ़ जिले के बांस उरकुली निवासी व वर्तमान बेलगहना निवासी मोमिंद शा फकीर उर्फ गोपाल खड़िया (24) की नजर बच्ची पर पड़ी। तब उसने मदद के लिए बच्ची को अपने पास बुलाया और फिर उसे अपने साथ बेलगहना ले गया। रातभर वह नाबालिग को अपने परिवार के साथ रखा। दूसरे दिन सुबह उसे लेकर भीख मांगने के लिए निकला। दोपहर को उसने बच्ची को पोड़ी के जंगल ले गया और उसके साथ अप्राकृतिक कृत्य किया। बच्ची के रोने और घायल होने पर वह उसे वहीं छोड़कर भाग निकला। आसपास के लोगों ने बच्ची को रोते देख पुलिस को सूचना दी। पुलिस मौके पर पहुंची और बच्ची को अस्पताल पहुंचाया, साथ ही घटनाक्रम की जानकारी लेकर उसके स्वजन को सूचना दी। पुलिस ने आरोपित फकीर पर अपहरण, कुकर्म और पाक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज कर तलाश शुरू की। देर रात आरोपित को बेलगहना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया गया है।पुलिस के मुताबिक, बच्ची के सिर पर माता-पिता का साया नहीं है। कुछ साल पहले उसकी मां उसे, उसकी एक बड़ी बहन और भाई को छोड़कर चली गई है। उसके पिता की कुछ साल पहले मृत्यु हो गई है। अब उसकी दादी ही बच्ची और उसके भाई-बहन का ख्याल रखती है। बच्ची के परिवार की आर्थिक स्थिति बेहद खराब है। बताया जा रहा कि पूर्व में भी बच्ची कई बार घर से जा चुकी है और पैसे के लिए ट्रेन में जाकर यात्रियों से भिक्षा मांगकर वापस आ जाती थी। कई बार पुलिस ने उसे खोजकर वापस घर पहुंचाया है, एक बार अनूपपुर चाइल्ड लाइन वालो ने भी उसका रेस्क्यू करके पुलिस को सौंपा था। आरोपित युवक मोमिंद शा फकीर उर्फ गोपाल खड़िया ने पहले बच्ची को अपने घर में रखा, फिर उसे अगले दिन बस में बैठाकर खैरा गया, जहां से बच्ची को पैदल पोड़ी जंगल की ओर ले गया। बाद में जब पुलिस उसकी तलाश करते हुए खैरा पहुंची तब आसपास के लोगों ने आरोपित के बारे में पुलिस को बताया कि वह सुबह गांव में एक बच्ची को लेकर घूम रहा था। जिसके बाद पुलिस उसे खोजते बेलगहना पहुंच गई। पुलिस के मुताबिक, आरोपित युवक ने पुलिस को बताया कि वह कुछ साल पहले यूपी गया था। जहां एक फकीर के संपर्क में आया और फिर उसकी लड़की से शादी करके अपना धर्म और नाम बदल लिया। पुलिस ने उसे हिरासत में लेकर कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे रिमांड पर जेल भेज दिया गया है।

No comments