Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

प्रदेश में 3 सबसे छोटी और 3 बड़ी जीत

रायपुर। कांकेर और पत्थलगांव के नतीजे हैरान करने वाले रहे। इन दोनों ही सीटों पर कांटे की टक्कर देखने को मिली। वहीं अंबिकापुर में नतीजा बेहद अ...

रायपुर। कांकेर और पत्थलगांव के नतीजे हैरान करने वाले रहे। इन दोनों ही सीटों पर कांटे की टक्कर देखने को मिली। वहीं अंबिकापुर में नतीजा बेहद अप्रत्याशित रहा जहां से टीएस सिंहदेव का मुकाबला उनके ही करीबी रहे राजेश अग्रवाल से था। राजेश बीजेपी की टिकट से मैदान में थे. राजेश अग्रवाल ने महज 94 वोटों के अंतर से टीएस सिंहदेव की विधायकी छीन ली. इस सीट पर कांग्रेस ने दोबारा काउंटिंग की मांग की और निर्वाचन आयोग ने रिकाउंटिंग कराई लेकिन नतीजा में हार ही मिली। वहीं, कांकेर ऐसी सीट रही जहां बीजेपी के नेता आशाराम नेताम ने शंकर ध्रुव को 16 वोटों से हराया. उधर, बीजेपी के ही गोमती साय ने कांग्रेस रामपुकार सिंह ठाकुर को 255 वोटों से हराया। तीन सबसे बड़ी जीत उधर, छत्तीसगढ़ में सबसे अधिक वोटों से जीतने वाले टॉप तीन नेता भी बीजेपी के ही हैं जिन्होंने अपने प्रतिद्वंद्वियों को धूल चटाई. इनमें दुर्ग सिटी से बीजेपी के गजेंद्र यादव, रायगढ़ से ओपी चौधरी और रायपुर दक्षिण से बृजमोहन अग्रवाल हैं। गजेंद्र यादव ने कांग्रेस अरुण वोरा को 48,697 वोटों से हराया है। वहीं, ओपी चौधरी ने कांग्रेस के ही प्रकाश नायक को 64443 वोटों से मात दी, जबकि बृजमोहन अग्रवाल ने कांग्रेस के महंत रामसुंदर दास को 67719 वोटों से हराया है। बृजमोहन अग्रवाल ने लगातार चौथी बार रायपुर दक्षिण सीट से चुनाव जीता है। छत्तीसगढ़ के चुनावी नतीजे जारी होने के बाद रोचक तथ्य सामने आ रहे हैं। चुनाव में कई नेता जहां बड़े अंतरों से जीते हैं तो कुछ ऐसे हैं जो 50 और 100 वोटों से भी कम के अंतर पर हार गए हैं। इनमें डिप्टी सीएम टीएस सिंहदेव और कांग्रेस शंकर ध्रुव शामिल है। वहीं, किसी नेता ने अपने प्रतिद्वंद्वी को 60 हजार से अधिक वोटों से हराया है और तो किसी ने 40 हजार से अधिक वोटों से मात दी है।

No comments