Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

समृद्ध-सशक्त छत्तीसगढ़ बनाने हमारी सरकार कटिबद्ध, दिन-रात काम करेंगे- मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय

  छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा का जो दायित्व जनता ने सौंपा, उसे पूरी निष्ठा से निभाएंगे विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर कृतज्ञता ज्ञापन के...

 

छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा का जो दायित्व जनता ने सौंपा,
उसे पूरी निष्ठा से निभाएंगे

विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर कृतज्ञता ज्ञापन के दौरान दिये
अपने संबोधन में मुख्यमंत्री ने कहा

अन्नदाता सुखी भवः के ध्येय वाक्य के साथ करेंगे काम, कहा छत्तीसगढ़ में
लोकतंत्र की जड़ें बहुत गहरी

रायपुर । समृद्ध-सशक्त छत्तीसगढ़ बनाने हमारी सरकार कटिबद्ध है। इसके लिए हम पूरी निष्ठा से रात-दिन काम करेंगे। छत्तीसगढ़ की जनता ने छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा करने का जो दायित्व हमें सौंपा है। उसे पूरी निष्ठा से निभाएंगे। विधानसभा में राज्यपाल के अभिभाषण पर कृतज्ञता ज्ञापन के दौरान दिये संबोधन में यह बात मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय ने कही। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने राज्यपाल महोदय द्वारा दिये गये भाषण के प्रति आभार जताया। साथ ही उन्होंने पक्ष और विपक्ष दोनों ओर के सदस्यों को धन्यवाद भी दिया। इसके साथ ही राज्यपाल के अभिभाषण पर कृतज्ञता प्रस्ताव पारित किया गया। मुख्यमंत्री श्री विष्णुदेव साय द्वारा धन्यवाद ज्ञापन दिया गया। विधानसभा अध्यक्ष डा. रमन सिंह ने विधानसभा की कार्यवाही अनिश्चितकाल के लिए स्थगित की।

मुख्यमंत्री ने अपने संबोधन में कहा कि जनता ने ऐतिहासिक जनादेश दिया है। इससे पता चलता है कि छत्तीसगढ़ में लोकतंत्र की जड़ें बहुत गहरी हैं। जनता ने जो विश्वास हम पर किया है उसे पूरा करने हम कटिबद्ध हैं। हर पात्र परिवार को पक्का मकान देना, शौचालय सुविधा उपलब्ध कराना, उनके लिए स्वास्थ्य की बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराने एवं आम जनता की सुविधा के हर कार्य के लिए सरकार दिन-रात काम करेगी। छत्तीसगढ़ के अन्नदाता सुखी भवः के ध्येय वाक्य के साथ हम काम करेंगे। अन्नदाता की संतुष्टि का हम पूरा ध्यान रखेंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के छठवीं विधानसभा का प्रथम सत्र कई मायने में महत्वपूर्ण है। विधानसभा में 50 नए विधायक और 19 महिला विधायक चुनकर आई हैं। हम वित्तीय प्रबंधन की बहाली कर वायदे पूरा करने के लक्ष्य का संघान करेंगे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सबको आवास देने के सरोकार को हमने प्रथम कैबिनेट में ही पूरा किया है। 18 लाख आवास की घोषणा पहले ही कैबिनेट में की। यदि इस योजना को राजनीति का अखाड़ा नहीं बनाया गया होता तो आज छत्तीसगढ़ के 18 लाख परिवारों के सर पर छत होती। यह हो नहीं पाया क्योंकि इसमें प्रधानमंत्री का नाम जुड़ा हुआ था, अतएव इस योजना का लाभ लोगों को नहीं दिया गया। जिन लोगों को आवास योजना की पहली किश्त मिल गई थी, उनका भी भरोसा तोड़ने का काम आपने किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जनता से किये गये सभी वायदों को पूरा करने हम उचित कदम उठाएंगे। प्रदेश की जनता के सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए सरकार प्रतिबद्ध है। मेरे जैसे सामान्य कार्यकर्ता को आज छत्तीसगढ़ महतारी की सेवा का अवसर जनता ने दिया है। पूरी निष्ठा के साथ इस दायित्व को निभाएंगे। उन्होंने छत्तीसगढ़ के सुविख्यात कवि स्वर्गीय श्री लक्ष्मण मस्तूरिया के गीत की पंक्तियों ’मोर संग चलव रे’ को उद्यत करते हुए प्रदेश के विकास का संकल्प व्यक्त किया। सत्र के समापन के अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह, मुख्यमंत्री श्री विष्णु देव साय और नेता प्रतिपक्ष ने सत्र का सफल संचालन के लिए सभी के प्रति आभार जताया।

No comments