Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

10 वीं के छात्र ने फांसी लगाकर की आत्महत्या

 अंबिकापुर। शहर के प्रतापपुर चौक के पास रहने वाले स्कूली छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक स्नेहिल पांडेय (15), गोपेश पांडेय के सुप...

 अंबिकापुर। शहर के प्रतापपुर चौक के पास रहने वाले स्कूली छात्र ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। मृतक स्नेहिल पांडेय (15), गोपेश पांडेय के सुपुत्र थे। यह बड़ा कदम उठाने से पहले छात्र ने सुसाइड नोट भी लिखा है। छात्र ने यह कदम अपनी मर्जी से उठाने का उल्लेख पत्र में किया है। सुसाइड नोट को स्वजन ने पुलिस को सौंप दिया है। घटना से स्वजन सदमे में हैं। उनका रो-रोकर बुरा हाल है। शहर के प्रतिभावान गोपेश पांडेय का सुपत्र स्नेहिल निजी स्कूल में दसवीं कक्षा में पढ़ता था। गोपेश बुधवार की शाम आकाशवाणी में ड्यूटी करने गए थे। उनकी ड्यूटी शाम चार बजे से रात 11 बजे तक थी। गोपेश पांडेय रात को लगभग साढ़े आठ बजे भोजन करने घर गए थे। उस समय उनका पुत्र स्नेहिल घर में पढ़ रहा था जिसके बाद गोपेश खाना खाकर वापस चले गए। रात को 11:30 बजे जब वे वापस आए तो पुत्र वहां नहीं दिखा। जिस पर उन्होंने अपनी पत्नी से बेटे के बारे में पूछा। इस पर पत्नी ने बेटे के पढ़ने की जानकारी दी लेकिन स्नेहिल पढ़ाई करने वाले कमरे में नहीं था। वह बेडरूम में भी नहीं था। तब गोपेश पांडेय छत के ऊपर गए। वहां एक कमरे में पुत्र फांसी पर लटका दिखाई दिया। उन्होंने तत्काल स्वजन को आवाज देकर बुलाया ,फिर बेटे को फंदे से नीचे उतार कर मिशन अस्पताल पहुंचे। यहां जांच के बाद चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया। बालक द्वारा जहां पर फांसी लगाया गया था वहां पर एक छोटे कागज के टुकड़े में सुसाइड नोट लिखा हुआ मिला है जिसमें उसने अपनी मर्जी से कदम उठाने की बात लिखी है। इस पत्र को पुलिस को सौंप दिया गया है। यह लिखा पत्र में मैं यह फैसला अपने मर्जी से ले रहा हूं। मेरे को कोई नहीं बोला है यह करने के लिए और इसमे किसी की कोई गलती नहीं है। पूरी गलती मेरी है मैं अपने मां और पापा दोनो से बहुत प्यार करता हूं इसलिए यह फैसला ले रहा हूं क्योकि मैं उनकी और बेइज्जती नहीं करा सकता। सब मेरी गलती है, उनकी कोई गलती नहीं है।

No comments