Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

भगवान श्री राम के आदर्शों एवं आचरण को आत्मसात कर जीवन को सफल बनायें- मंत्री श्री टंकराम वर्मा

  अयोध्या में श्री रामलला प्राण प्रतिष्ठा की ऐतिहासिक एवं अलौकिक पल का जीवंत प्रसारण देख भाव विभोर हुए लोग बलौदाबाजार के षष्ठी मंदिर में आ...

 

अयोध्या में श्री रामलला प्राण प्रतिष्ठा की ऐतिहासिक एवं अलौकिक पल का जीवंत प्रसारण देख भाव विभोर हुए लोग

बलौदाबाजार के षष्ठी मंदिर में आयोजित जिला स्तरीय कार्यक्रम में शामिल हुए कैबिनेट मंत्री श्री टंकराम वर्मा

रामायण मानस मंडलियों ने दी मनमोहक सांस्कृतिक प्रस्तुतियां

रायपुर । अयोध्या में श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा अनुष्ठान प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी की उपस्थिति में 22 जनवरी 2024 को सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर बलौदाबाजार स्थित षष्ठी मंदिर प्रांगण में आयोजित जिला स्तरीय रामभक्तिमय सांस्कृतिक कार्यक्रम में छतीसगढ़ शासन के राजस्व एवं आपदा प्रबंधन मंत्री श्री टंकराम वर्मा शामिल हुए। मंत्री श्री वर्मा ने षष्ठी मंदिर में माता षष्ठी एवं शीतला के दर्शन कर पूजा- अर्चना की। इसके पाश्चत उन्होंने राम दरबार के तैल चित्र की विधि विधान से पूजा-अर्चना व आरती कर सभी के लिए शुभ मंगल की कामना की। अयोध्या में श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा का षष्ठी मंदिर में जीवंत प्रसारण हेतु एलईडी स्क्रीन की व्यवस्था की गई थी। प्रभु श्री राम की अद्भुत एवं अलौकिक रूप देख लोग भाव विभोर हो गए। इस दौरान उपस्थित सभी लोगों ने दोनों हाथ ऊपर उठाकर जय श्री राम के जयघोष का उच्चारण किये। मंदिर प्रांगण शुभ शंख नाद एवं घंटियों  की ध्वनि से गुंजायमान हो गया। इस अवसर पर राम भजन रस धारा निरंतर बहती रही। श्री रामलला के स्वागत को लेकर लोगों में बेहद उत्साह का वातावरण था। कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि भगवान श्री रामलला की प्राण प्रतिष्ठा की ऐतिहासिक व अलौकिक पल के आज हम सब साक्षी बने हैं। जो सपना हमारे पूर्वजो ने देखा था उसे लंबे समय बाद साकार होते देख रहे है। अयोध्या हमारे लिए आस्था का केन्द्र है। इस दिन को देखने के लिए हजारों सनातनियों ने बलिदान दिया। प्रभु श्री राम सबके हैं। श्री राम कथा का श्रवण के साथ ही उनके आदर्शों पर चलने और आचरण को आत्मसात करने से ही जीवन सफल होगा। उन्होंने कहा कि शिक्षा के साथ संस्कार भी जरूरी है। बच्चो को संस्कारवान बनाने में माताओं की सबसे अधिक भूमिका होती है। मंत्री श्री वर्मा ने 1528 में आक्रांता बाबर के द्वारा मंदिर तोड़े जाने से लेकर 2019 में उच्च्तम न्यायालय द्वारा राम जन्मभूमि के पक्ष में फैसला देने तक के विभिन्न घटनाओं का सिलसिलेवार ढंग से प्रकाश डाला। इस दौरान उन्होंने ’नगरी हो अयोध्या की, रघुकुल का  घराना हो’ भजन गाकर कार्यक्रम को रामभक्तिमय बनाया। जनपद अध्यक्ष श्रीमती सुमन वर्मा ने कहा कि 500 वर्ष के लंबे  इंतजार के बाद श्री रामलला विराजमान हुए हैं। भगवान श्री राम मर्यादा में रहने की सीख देते हैं। प्रधानमंत्री श्री मोदी की पहल से अयोध्या में श्री रामलला का भव्य मंदिर साकार हुआ है।

मानस मंडलियों ने दी मनमोहक प्रस्तुति

 इस अवसर पर  जय भोले शंकर मानस परिवार रिसदा, सुर श्रृंगार मानस मण्डली सुहेला, तुलसी मानस मंडली लच्छनपुर, रामसेतु मानस मंडली मल्दी, माँ नन्दिनी मानस परिवार तुरमा एवं सिविल लाइन मानस परिवार के द्वारा राम भजन व चौपाईयों की मनमोहक प्रस्तुति दी। अतिथियों के द्वारा प्रत्येक मानस मण्डली को 5000 रुपये प्रोत्साहन राशि, रामचरित मानस का गुटका एवं श्रीफल भेंट किया गया। इस अवसर पर कलेक्टर श्री चंदन कुमार, अपर कलेक्टर द्वय श्री व्ही सी एक्का एवं श्री अनुपम तिवारी,एसडीएम सुश्री रोमा श्रीवास्तव, श्री विजय केशरवानी, श्री अशोक केशरवानी, श्री खोडस राम कश्यप, श्री विद्याभूषण साहू, श्री सोहन लाल यदु सहित अधिकारी-कर्मचारी तथा बड़ी संख्या में नागरिकगण उपस्थित थे।

No comments