Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

मितानिन अनिता केरकेट्टा की गला काटकर हत्या

अंबिकापुर। बलरामपुर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत सेवारी के बसियाटोंगरी में मितानिन अनिता केरकेट्टा (50) की गला काटकर हत्या कर...

अंबिकापुर। बलरामपुर जिले के राजपुर थाना क्षेत्र के ग्राम पंचायत सेवारी के बसियाटोंगरी में मितानिन अनिता केरकेट्टा (50) की गला काटकर हत्या कर दी गई। पिछले दो दिनों से घर में ताला लगा था। गुरुवार सुबह पति को संदेह हुआ। उसने दरवाजे को जोर से धक्का दिया तो वह खुल गया। भीतर कमरे में महिला की रक्तरंजित लाश पड़ी थी। वहीं पर एक टांगी भी गिरा हुआ था। संभावना है कि उसी टांगी से महिला के गले पर जोरदार प्रहार कर मौत के घाट उतारा गया होगा। राजपुर पुलिस की टीम घटनास्थल पर जांच पड़ताल में लगी है। गुरुवार की सुबह राजपुर पुलिस को सूचना मिली कि ग्राम पंचायत सेवारी के बसियाटोंगरी में महिला की हत्या कर दी गई है। घर पर ही उसका शव पड़ा हुआ है। सूचना पर राजपुर थाना प्रभारी रमाकांत साहू के नेतृत्व में पुलिस टीम तत्काल मौके पर पहुंचा।कच्चे मकान के भीतर कमरे में महिला की लाश पड़ी हुई थी। उसके गले में गंभीर चोट के निशान थे। गला लगभग आधा कटा हुआ था। पास में ही एक टांगी भी गिरी हुई थी।  महिला ने कंबल ओढ़ रखा था। सर का हिस्सा खुला हुआ था। पुलिस ने जब मामले की जांच शुरू की तो पता चला की मृतका अनिता केरकेट्टा अपने पति विलियम केरकेट्टा के साथ रहती थी। विलियम पेशे से राजमिस्त्री है। महिला मितानिन का काम करती थी इसलिए अक्सर उसका मरीज के घर आना-जाना लगा रहता था। कई बार वह मरीज को लेकर अस्पताल भी आया - जाया करती थी। गांव में ही मृतका की बेटी असुंता टोप्पो का ससुराल है। बीते दो जनवरी को मृतका का पति विलियम काम करने के लिए सेवारी गया हुआ था। विलियम दो जनवरी की शाम घर वापस लौटा तो घर में ताला लगा हुआ था। पत्नी के काम के सिलसिले में बाहर जाने की संभावना पर वह बस्ती में ही बेटी के घर चला गया। अगले दिन फिर वह काम पर चला गया। शाम को घर लौटा तो देखा कि ताला लगा हुआ है। उस दिन भी वह बेटी के यहां ही रुका। दो दिनों से घर में ताला बंद होने के कारण उसे संदेह भी होने लगा था। गुरुवार की सुबह वह बेटी के यहां से अपने घर पहुंचा। दरवाजे पर ताला लगा हुआ था लेकिन आज वह दरवाजे के समीप तक गया। पता चला कि सिर्फ ताला लगा हुआ है , सिकड़ी इस तरीके से लगी हुई है मानो ताला के साथ ही हो। सिकड़ी हटाकर उसने जोर से दरवाजे को धक्का दिया तो दरवाजा खुल गया। भीतर जाकर देखा तो उसकी पत्नी की लाश पड़ी हुई थी। तत्काल उसने राजपुर पुलिस को सूचना दी। अभी तक की जांच में हत्या का कोई कारण सामने नहीं आया है। ऐसी कोई जानकारी भी नहीं मिली है जो महिला की हत्या का कारण बन सके। अंबिकापुर से विधि विज्ञान विभाग के एसके सिंह भी घटनास्थल पहुंचे हैं। राजपुर पुलिस द्वारा बलरामपुर से डॉग स्क्वायड को भी मंगाया गया है। घर के बनावट को देखते हुए संदेह जताया जा रहा है कि दीवार और छप्पर के बीच में खाली जगह से ही हत्यारे घर के भीतर प्रवेश किए होंगे क्योंकि वहां भी पैरों के निशान मिले हैं।पुलिस गांव वालों से भी पूछताछ कर अंधे हत्याकांड का रहस्योद्घाटन करने का प्रयास कर रही है।

No comments