Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

कोर्स पूरा कराने के लिए लगेंगी अतिरिक्त कक्षाएं

  रायपुर। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय की वार्षिक परीक्षाएं मार्च में शुरू हो रही है। विश्वविद्यालय की पूरक परीक्षाएं भी देरी से हुई, इ...


  रायपुर। पंडित रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय की वार्षिक परीक्षाएं मार्च में शुरू हो रही है। विश्वविद्यालय की पूरक परीक्षाएं भी देरी से हुई, इस वजह से भी छात्रों की पढ़ाई में विलंब हुआ है। जिन छात्रों का प्रवेश जुलाई में ही अगली कक्षा में हो गया था, उनका कोर्स लगभग पूरा हो गया है। उन्हें रिवीजन करने का समय भी मिल जाएगा, लेकिन जो छात्र पूरक परीक्षा पास होने के बाद प्रवेश लिए हैं। उन्हें पढ़ने में दिक्कत हो रही है। जब उन छात्रों ने प्रवेश लिया तब तक काफी कोर्स पढ़ाया जा चुका था। पिछला कोर्स को समझने में छात्रों को परेशानी हो रही है। कालेज प्रबंधन पिछला कोर्स को पूरक छात्रों को पढ़ाने के लिए अतिरिक्त कक्षाएं लगाने की तैयारी में है। प्राध्यापक छात्रों से पूछ रहे हैं, छात्रों की मांग को देखते हुए कालेज प्रबंधन अतिरिक्त कक्षाएं लगाएगा। कमजोर छात्रों के लिए कई कालेजों में अतिरिक्त कक्षाएं लगती भी है, इस वर्ष कोर्स पूरा करने के लिए भी लगाई जाएगी। अतिरिक्त कक्षाओं से छात्रों को भी लाभ मिलता है। परीक्षा की तैयारी के साथ-साथ 75 प्रतिशत से कम उपस्थिति होने पर अतिरिक्त कक्षाओं में आने से उपस्थिति भी पूरी हो जाती है। इस बार पूरक परीक्षाएं नए नियम के मुताबिक हुई है। दो विषयों में अनुत्तीर्ण छात्रों को भी पूरक पात्रता दी गई थी, जिसके कारण पूरक परीक्षाओं में देरी हुई। पहले एक विषय में फेल छात्र को पूरक की पात्रता मिलती थी। छात्रों की मांग पर शासन ने सिर्फ इस सत्र के लिए नियम में बदलाव कर दो विषयों में फेल छात्रों को भी पूरक की पात्रता दिया था। इस सत्र से फिर एक विषय में फेल छात्र को ही पूरक की पात्रता दी जाएगी। 75 प्रतिशत उपस्थिति में भी मिलता है लाभ वार्षिक परीक्षा में शामिल होने के लिए छात्रों की 75 प्रतिशत उपस्थिति अनिवार्य होती है। कुछ छात्रों की उपस्थिति कम रहती है। उनको अतिरिक्त कक्षाओं का लाभ मिलता है। अतिरिक्त कक्षाओं में आने से उनकी उपस्थिति बढ़ जाती है, जिससे उन्हें परीक्षा में बैठने के लिए भी मिल जाता है। विश्वविद्यालय की पूरक परीक्षाएं अक्टूबर-नवंबर में हुई। परीक्षा परिणाम दिसंबर में आया, जो छात्र पूरक परीक्षाओं में पास हुए उन्हें अगली कक्षा में प्रवेश दिया गया। जब छात्रों ने प्रवेश लिया तब तक कालेजों में आधे से ज्यादा कोर्स की पढ़ाई हो चुकी थी। कुछ छात्र पूरक की पात्रता के कारण अगली कक्षा की पढ़ाई शुरू कर दिए थे, लेकिन कुछ छात्र पढ़ने के लिए नहीं आ रहे थे, उन्हीं छात्रों का कोर्स काफी पीछे है। जिन छात्रों का कोर्स आगे का छूट गया है, उनके लिए अतिरिक्त कक्षाएं लगाई जाएगी। कुछ छात्र लंच टाइम में आकर अपने विषय के शिक्षक से पूछकर पढ़ भी लिए हैं। कालेज प्रबंधन छात्रों की सुविधा के अनुसार अतिरिक्त कक्षाएं लगाने की तैयारी में है।

No comments