Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

16 लाख के पांच इनामी सहित 16 नक्‍सलियों ने किया सरेंडर

 बीजापुर। छत्‍तीसगढ़ के बीजापुर जिले में चलाये जा रहे नक्सली उन्मूलन के तहत चलाए जा रहे अभियान से प्रभावित होकर 16 लाख के पांच इनामी सहित 16...

 बीजापुर। छत्‍तीसगढ़ के बीजापुर जिले में चलाये जा रहे नक्सली उन्मूलन के तहत चलाए जा रहे अभियान से प्रभावित होकर 16 लाख के पांच इनामी सहित 16 नक्सलियों ने आत्मसमर्पण कर दिया। उक्त अभियान में डीआरजी, बस्तर फाईटर, एसटीएफ एवं कोबरा 202, 210 केरिपु 222वी वाहिनी के द्वारा किये जा रहे संयुक्त प्रयासों से छग शासन की पुनर्वास एवं आत्मसर्पण नीति से प्रभावित होकर 16 नक्सलियों ने 30 अप्रैल को पुलिस अधीक्षक डॉ.जितेन्द्र कुमार यादव, कमांडेंट 222वी बटालियन केरिपु विनोद मोहरिल, कमांडेंट कोबरा 202 अमित कुमार, कमांडेंट कोबरा 210 अशोक कुमार, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ऑप्स वैभव बैंकर, उप पुलिस अधीक्षक ऑप्स सुदीप सरकार के समक्ष आत्मसमर्पण किया। आत्मसमर्पण करने वाले नक्सलियों में पीएलजीए बटालियन नम्बर 1 का सदस्य अरूण कड़ती आठ लाख का इनामी, माटवाड़ा एलओएस कमांडर एसीएम रमेश ऊर्फ मुन्ना हेमला 42 वांरट लंबित पांच लाख का इनामी, आरपीसी सीएनएम कमांडर सुदरू पूनेम एक लाख, आरपीसी केएएमएस अध्यक्ष पायकी कारम एक लाख, मद्देड एरिया कमेटी एलजीएस सदस्य प्रमोद ताती ऊर्फ छोटू- एक लाख, पालनार आरपीसी मिलिशिया डिप्टी कमांडर पाकलू हेमला ऊर्फ परवेश, पालनार आरपीसी जन मिलिशिया सदस्य लक्ष्मण उरसा ऊर्फ मंगू उरसा, पालनार भूमकाल मिलिशिया सदस्य आयतू पूनेम ऊर्फ वरगेश, पालनार आरपीसी अंतर्गत डॉक्टर टीम का सदस्य बुधराम पोटाम, पालनार भूमकाल मिलिशिया सदस्य बुधु ताती ऊर्फ गढडा,पालनार भूमकाल मिलिशिया सदस्य लक्खू ताती, जनताना सरकार सदस्य- विद्या संस्कृति शाखा अध्यक्ष पोदिया कारम, मददेड़ एरिया कमेटी पीएलजीए सदस्य रमेश पुनेम,पालनार आरपीसी अध्यक्ष सुखराम हेमला ऊर्फ रामलु ,पालनार भूमकाल मिलिशिया सदस्य सुक्कू लेकाम ऊर्फ मांझी, जनताना सरकार सदस्य-सांस्कृतिक शाखा अध्यक्ष सुक्कू ताती ये सभी नक्सली जिले गंगालूर, बासागुड़ा मिरतुर थाना क्षेत्र के पुलिस पार्टी हमला, मार्ग अवरूद्ध, कैंप पर हमला, सलवा जुडूम कैंप पर हमला, ग्रामीणों की हत्या, विस्फोटक सामग्री सप्लाई, प्रेशर आईईडी ब्लास्ट की घटना जैसे विभिन्न घटनाओं में शामिल रहे। आत्मसमर्पण करने पर इन्हें उत्साहवर्धन के लिए शासन की आत्मसमर्पण एवं पुनर्वास नीति के तहत 25000-25000 रूपये नगद प्रोत्साहन राशि प्रदान किया गया।

No comments