Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

पायलेट प्रोजेक्ट के रूप में सर्वप्रथम प्रीमियम विदेशी मदिरा दुकानों में लागू होगी व्यवस्था

   रायपुर। राज्य सरकार रदेश की शराब दुकानों में अब कैशलेस भुगतान की सुविधा आरंभ करने जा रही है। लंबे समय से यह शिकायत मिल रही थी कि राज्य क...

 

 रायपुर। राज्य सरकार रदेश की शराब दुकानों में अब कैशलेस भुगतान की सुविधा आरंभ करने जा रही है। लंबे समय से यह शिकायत मिल रही थी कि राज्य की अनेक शराब दुकानों में शराब की बिक्री शासन द्वारा निर्धारित मूल्य से अधिक राशि लेकर की जा रही है। इससे शराब उपभोक्ताओं में काफी असंतोष भी रहा है। वर्तमान में शराब का विक्रय प्रत्येक बोतल पर अंकित क्यूआर कोड को स्कैन करके और नगद भुगतान प्राप्त करके किया जाता है, लेकिन विगत वर्षाे में कई कारणों से यह प्रणाली दोषपूर्ण साबित हुई है। अब आनलाइन भुगतान और यूपीआइ के माध्यम से भुगतान द्वारा कैशलेस भुगतान की सुविधा आरंभ हो जाने से शराब दुकानों में निर्धारित राशि से अधिक राशि नहीं ली जा सकेगी। शराब का विक्रय अधिक व्यवस्थित तरीके से होगा, इससे शराब काउंटरों पर लगने वाली भीड़ में कमी आएगी, चिल्हर की समस्या से भी मुक्ति मिलेगी और लोगों के समय की भी बचत होगी। मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय की सरकार की प्राथमिकता सभी शासकीय विभागों में अधिक से अधिक पारदर्शिता सुनिश्चित करते हुए राज्य में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाना है। कैशलेस भुगतान की सुविधा इसी क्रम में उठाया गया एक छोटा सा कदम है। शुरुआती चरणों में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में यह सुविधा विदेशी मदिरा की प्रीमियम दुकानों में प्रारंभ की जा रही है। इसमें सफलता मिलने पर इसे अन्य दुकानों में भी इसे प्रारंभ किया जाएगा।
इसने की पहल
छत्तीसगढ़ स्टेट मार्केटिंग कार्पोरेशन लिमिटेड द्वारा इस व्यवस्था को लागू करने की पहल की गई है। बैंकों से दुकानवार क्यूआर कोड प्राप्त किया जा रहा है, जिसे प्रत्येक मदिरा दुकान के बाहर चस्पा किया जावेगा। क्यूआर कोड को स्कैन करने के पश्चात् निर्धारित फुटकर विक्रय दर पर मदिरा का क्रय किया जा सकेगा।

No comments