Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

संवेदनशील उद्योगों की होगी विशेष सुरक्षा जांच

   रायपुर। बेमेतरा हादसे के बाद अब प्रदेश के ज्वलनशील व विस्फोटकों का इस्तेमाल करने वाले उद्योगों की विशेष सुरक्षा जांच होगी। प्रदेश के वा...

 

 रायपुर। बेमेतरा हादसे के बाद अब प्रदेश के ज्वलनशील व विस्फोटकों का इस्तेमाल करने वाले उद्योगों की विशेष सुरक्षा जांच होगी। प्रदेश के वाणिज्य, उद्योग मंत्री लखन लाल देवांगन ने विस्फोटक और ज्वलनशील सामग्रियों का उत्पादन या प्रयोग करने वाले उद्योगों का विशेष सुरक्षा जांच करने के निर्देश दिए गए हैं। उद्योगों में सुरक्षा मापदंड सुनिश्चित कर जानलेवा हादसों में कमी लाने के लिए अधिकारियों को निर्देश जारी किया गया है। उद्योग मंत्री ने कहा कि उद्योगों में इंडस्ट्रियल सेफ्टी ट्रेनिंग का आयोजन किसी मान्यता प्राप्त एजेंसी द्वारा करवाना व उसकी रिपोर्ट जारी करने की प्रक्रिया शुरू की जाएगी। इसकी मासिक और वार्षिक समीक्षा भी की जाएगी। थर्ड पार्टी सेफ्टी आडिट एजेंसी की मान्यता को पुनः निर्धारित की जाएगी। उल्लेखनीय है कि बेमेतरा हादसे के बाद मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय से उद्योग मंत्री ने सोमवार को मुलाकात की थी । मुख्यमंत्री ने उद्योग मंत्री को सुरक्षा जांच के लिए ठोस कदम उठाने के निर्देश दिए थे। विभागीय मंत्री ने श्रम विभाग के सचिव को निर्देशित किया है की किसी भी उद्योग में श्रमिकों से आठ घंटे से अधिक काम नहीं लिया जाए। बीते सत्र में कई विधायकों द्वारा लाए गए संज्ञान का उल्लेख करते मंत्री ने कहा कि उद्योगों द्वारा श्रम कानून का पालन न करते हुए मनमाने ढंग से श्रमिकों से 12 घंटे से अधिक समय तक कार्य लिया जा रहा है। इस पर श्रम कानूनों का पालन करना जरूरी होगा। स्थानीय श्रमिकों की प्राथमिकता को लेकर उद्योग मंत्री ने कहा है कि अकुशल श्रेणी में 100 प्रतिशत श्रमिक स्थानीय होना चाहिए। आर्थिक निवेश प्रोत्साहन के लिए अकुशल श्रेणी में न्यूनतम 100 प्रतिशत, कुशल श्रेणी में न्यूनतम 70 प्रतिशत और प्रबंधकीय श्रेणी में न्यूनतम 40 प्रतिशत रोज़गार दिए जाने का प्रविधान है।

No comments