Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

दो महीने में सड़क हादसों में सौ से अधिक की मौत

   रायपुरl मालवाहक वाहनों में लोगों की सवारी मौत का कारण बनती जा रही है। छत्‍तीसगढ़ में बीते तीन महीने के भीतर सड़क हादसे में 100 से अधिक लो...

 

 रायपुरl मालवाहक वाहनों में लोगों की सवारी मौत का कारण बनती जा रही है। छत्‍तीसगढ़ में बीते तीन महीने के भीतर सड़क हादसे में 100 से अधिक लोगों की मृत्यु हो चुकी है, जिसमें 25 लोगों की मृत्यु पिकअप पलटने से हुई है। सड़क दुर्घटना में 100 से अधिक मौतें 60 अलग-अलग सड़क सड़क दुर्घटनाओं में हुई हैं, जबकि पिकअप पलटने की सिर्फ चार सड़क हादसों में ही 25 लोगों की मौत हो गई। मालवाहक वाहनों में ठूंस कर लोगों को भरने व जागरूकता की कमी की वजह से मौतों का आंकड़ा बढ़ते जा रहा है। बीते तीन महीने शादियों के सीजन में प्रदेश में सबसे ज्यादा हादसे हुए हैं। मंगलवार को कवर्धा की घटना की जांच के लिए सड़क सुरक्षा की टीम मौके पर पहुंची। टीम ने अलग-अलग बिंदुओं पर जांच की है। अंतर्विभागीय लीड एजेंसी (सड़क सुरक्षा) के अध्यक्ष संजय शर्मा के नेतृत्व में चार सदस्यीय टीम ने वाहन चालक से भी पूछताछ की। वाहन चालक ने जांच टीम को बताया कि तेंदूपत्ता लाने के लिए सुबह चार बजे उठे थे। वापसी में ग्राम बाहपानी के पास पहाड़ी रास्ते में 40 मीटर पहले मोड़ के साथ ढलान हैं। यहां चप्पल (स्लीपर) क्लच में फंस गया, जिसकी वजह से गाड़ी अनबैलेंस होने लगी। तभी अचानक ब्रेक ने भी काम करना बंद कर दिया। मैंने व मेरे साथ बैठे साथियों ने ब्रेक फेल की आवाज देकर छलांग लगा दी,जिसके बाद पीछे बैठे कुछ पुरुषों ने भी छलांग लगाई। गाड़ी बिना चालक के हो चुकी थी। वाहन में बैठी महिलाओं की मौत हो गई।  घटना के बाद मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने कहा है कि सड़क सुरक्षा के प्रति अतिरिक्त सावधानी बरती जानी चाहिए। ऐसे हादसों को रोकने के लिए हर संभव प्रयास होना चाहिए। गृहमंत्री विजय शर्मा मंगलवार को मृतकों के अंतिम संस्कार में पहुंचे व परिवारों को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया।

No comments