Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

रिश्वतखोरी के आरोप पर जूनियर पासपोर्ट आफिसर गिरफ्तार

  अंबिकापुर। एंटी करप्शन ब्यूरो अंबिकापुर की टीम ने गुरुवार को अंबिकापुर के पासपोर्ट कार्यालय में ₹8000 की रिश्वत लेते जूनियर पासपोर्ट असिस्...

 

अंबिकापुर। एंटी करप्शन ब्यूरो अंबिकापुर की टीम ने गुरुवार को अंबिकापुर के पासपोर्ट कार्यालय में ₹8000 की रिश्वत लेते जूनियर पासपोर्ट असिस्टेंट आफिसर को रंगे हाथों गिरफ्तार किया है। आरोपित संकट मोचन राय पासपोर्ट वेरिफिकेशन के नाम पर रिश्वत ले रहा था। रिश्वतखोरी के विरुद्ध अंबिकापुर एंटी करप्शन ब्यूरो टीम की 10 दिन के भीतर यह दूसरी बड़ी कार्रवाई है।  जानकारी के अनुसार बलरामपुर जिले के दोलंगी निवासी इसरार अंसारी सहित कुल चार लोगों ने पासपोर्ट वेरिफिकेशन के लिए अंबिकापुर के प्रधान डाकघर के बगल में स्थित पासपोर्ट कार्यालय में आवेदन किया था। यहां पदस्थ जूनियर पासपोर्ट असिस्टेंट आफिसर संकट मोचन राय द्वारा इनका कार्य नहीं किया जा रहा था।

पिछले एक माह से आवेदक कार्यालय आ रहे थे लेकिन उनका पासपोर्ट वेरिफिकेशन नहीं हो रहा था। जब इन्होंने अधिकारी से संपर्क किया तो उन्होंने प्रति व्यक्ति तीन - तीन हजार रिश्वत की मांग की। आवेदक राशि देने के बजाय उसे रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कराना चाह रहे थे, इसलिए रिश्वत मांगने संबंधी शिकायत एसीबी के अंबिकापुर स्थित कार्यालय में की गई।

एसीबी के अधिकारियों ने शिकायतकर्ताओं और अधिकारी के बीच बातचीत का आडियो सुना। पासपोर्ट कार्यालय के अधिकारी द्वारा रिश्वत मांगे जाने की पुष्टि के बाद कार्रवाई की योजना बनाई गई। आवेदक इसरार अंसारी ने बताया कि जब उन्होंने 3000 के बदले प्रति व्यक्ति 2000 रुपये देने सहमति दी तब जूनियर पासपोर्ट असिस्टेंट आफिसर ने पासपोर्ट वेरिफिकेशन करने का वादा किया। इस आधार पर एसीबी के अधिकारियों ने केमिकल लगे 8000 के नोट देकर आवेदक को अंबिकापुर के पुराना बस स्टैंड स्थित प्रधान मुख्य डाकघर के बगल में पासपोर्ट कार्यालय भेजा।

कार्यालय में अधिकारी ने जैसे ही 8000 रुपये की रिश्वत ली, पहले से मुस्तैद एसीबी के अधिकारी कर्मचारियों ने उसे रंगे हाथों पकड़ लिया। कार्यालय में ही सारी जरूरी प्रक्रियाएं पूरी करने के बाद एसीबी की टीम ने अधिकारी को गिरफ्तार कर लिया है। यह कार्रवाई एंटी करप्शन ब्यूरो अंबिकापुर के डीएसपी प्रमोद खेस के नेतृत्व में की गई है।बताते चले की लगभग 10 दिन पहले एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम ने अंबिकापुर के नगर तथा ग्राम निवेश कार्यालय में दबिश देकर रिश्वत लेते दो अधिकारियों को गिरफ्तार किया था। एंटी करप्शन ब्यूरो की टीम रिश्वतखोरों के विरुद्ध लगातार कार्रवाई कर रही है।

No comments