Page Nav

HIDE

Grid

GRID_STYLE

Pages

ब्रेकिंग

latest

राजधानी रायपुर में रिलायंस जियो इंफोकाम लिमिटेड के साथ लाखों की धोखाधड़ी

  रायपुर। राजधानी रायपुर में रिलायंस जियो इंफोकाम लिमिटेड के साथ लाखों की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। जगदलपुर में चल रहे टाटा प्रोजेक्ट्...

 

रायपुर। राजधानी रायपुर में रिलायंस जियो इंफोकाम लिमिटेड के साथ लाखों की धोखाधड़ी का मामला सामने आया है। जगदलपुर में चल रहे टाटा प्रोजेक्ट्स और नोवा स्टील में सिम और डोंगल सप्लाई करने के नाम पर 43 लाख रुपयों से ज्यादा की धोखाधड़ी की गई। कंपनी के चैनल पार्टनर शुभ एसोसिएट के माालिक शुभम आडवाणी करीब 43 लाख रुपये कीमत के सिम और डोंगल लेकर फरार हो गया। रिलायंस जियो इंफोकाम लिमिटेड ने पंडरी थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई है। पुलिस ने धोखाधड़ी और अमानत में खयानत का मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है। पंडरी थाने में अली चिश्ती निवासी लोहिया कालोनी मोवा रायपुर ने रिपोर्ट दर्ज करवाई। पीड़ित रिलायंस जियो इंफोकाम लिमिटेड में प्रबंधक के पद पर कार्यरत है। उन्होंने पुलिस को बताया कि रिलायंस जियो इंफोकाम लिमिटेड अपने उपभोक्ताओं जिसमें, व्यक्तिगत एवं कार्पोरेट सभी तरह के सम्मिलित है, को सिम, ब्राडबैंड, डोंगल आदि की सप्लाई देशभर में करता है। सेवाओं को ग्राहकों तक पहुंचाने के लिए कंपनी की ओर से चैनल पार्टनर नियुक्त किया गया। इसी क्रम में शुभम ने शुभ एसोसिएटस कंपनी को चैनल पार्टनर नियुक्त करवाने के लिए दिसंबर 2021 के आखिरी सप्ताह में रिलायंस जियो इंफोकाम के आफिस में संपर्क किया। शुभम की ओर से दस्तावेज पेश करने के बाद कंपनी द्वारा सुरक्षा निधि के तौर पर 50 हजार रुपये जमा करवाए गए और शुभ एसोसिएटस को एजेंट नियुक्त किया गया। इसके बाद शुभम ने 23 फरवरी 2022 में कंपनी को टाटा प्रोजेक्टस् जगदलपुर के लिए 500 डोंगल एवं सिम रुपये 249 प्रति माह के प्लान का आर्डर लाकर दिया। कंपनी ने दस्तावेज के आधार पर टाटा प्रोजेक्ट्स को आर्डर दे दिया। प्लान को एक्टिवेशन के लिए प्रोसेस भी कर दिया। वहीं नोवा आयरन एंड स्टील लिमिटेड का कनेक्शन भी कंपनी द्वारा एक्टिवेट कर दिया गया। इसके बाद जब रिलायंस जियो इंफोकाम को टाटा प्रोजेक्ट्स जगदलपुर से किराया प्राप्त नहीं हुआ तो शुभम से इसकी जानकारी मांगी गई और मिलने के लिए कहा गया, लेकिन वो नहीं मिला। इसके बाद रिलायंस जियो इंफोकाम के पदाधिकारी ने नोवा स्टील तथा टाटा प्रोजेक्टस् के दोनों खातों की जांच की और दोनों के कपंनियों के कर्मचारियों से मुलाकात की तो पता चला कि नोवा आयरन एंड स्टील लिमिटेड की ओर से कंपनी को डोंगल एवं सिम के लिए कोई आर्डर या ई-मेल नहीं किया गया है। इसके बाद मामला सामने आया। कंपनी ने शुभम के खिलाफ धोखाधड़ी की रिपोर्ट दर्ज करवाई है।

No comments